टोकन कटवाने किसान सुबह 5 बजे से सोसायटी में डटे

0
119

धमतरी (प्रखर)। एक दिसंबर से शुरू हो रहे समर्थन मूल्य में धान खरीदी कार्य के लिए शुक्रवार से किसानों का टोकन काटना शुरू हो गया है। पहले दिन किसान धान बेचने के लिए टोकन कटाने 5 बजे से सोसायटी में डटे रहे।

धमतरी जिले में इस साल समर्थन मूल्य में धान खरीदी के लिए करीबन 45 लाख क्विंटल का लक्ष्य रखा गया है। उपार्जन केन्द्रों में खरीदी के लिए चबूतरा और मैदान की साफ सफाई कार्य को पूर्ण कर लिया गया है। इस साल 1 लाख 11 हजार 396 किसानों ने धान बेचने के लिए पंजीयन कराया है। जिले में धान की कटाई कार्य अंतिम स्टेज पर है। जबकि कई किसान अभी भी धान की मिंजाई नहीं करा पाये है। खेतों में खरही बनाकर रखे हुए है।

टोकन काटने की शुरूआत के साथ ही किसानों में धान बेचने को लेकर उत्सुकता बढ़ गई है। खाद्य विभाग के मुताबिक जिले में 44 लाख 80 हजार क्विंटल धान समर्थन मूल्य में खरीदने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए 89 उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य में धान खरीदने की व्यवस्था की गई है। धान खरीदने के लिए बारदाना पहुंच चुका है। हालांकि कुछ जगहों पर धान खरीदी जैसे ही बढ़ेगी वैसे ही बारदाने की किल्लत हो सकती है। क्योंकि अभी भी पर्याप्त मात्रा में बारदान नहीं पहुंच पाया है।

ज्ञात हो कि पिछले साल समर्थन मूल्य के लिए 1 लाख 5 हजार 882 किसानों का पंजीयन हुआ था। जबकि इस साल किसानों की संख्या बढ़ी है। पिछले साल की तुलना में इस साल 5914 किसानों ने समर्थन मूल्य में धान बेचने के लिए अतिरिक्त पंजीयन कराया है। पिछले साल धान बेचने के लिए 1 लाख 20 हजार 497 हेक्टर रकबा का पंजीयन हुआ था। इस बार 1 लाख 19 हजार 280 हेक्टेयर का पंजीयन हुआ है जो पिछले वर्ष की तुलना में कम है।

केन्द्र सरकार के समर्थन मूल्य 1850 रूपय है। जबकि राज्य शासन प्रोत्साहन राशि देगी या नहीं यह अभी स्पष्ट नहीं है। धान खरीदी के लिए धमतरी जिले में 43 नोडल अधिकारी बनाये हुये हैं। ये अधिकारी नियमित रूप से निगरानी करेंगे। कलेक्टर जेपी मौर्य ने धान खरीदी को लेकर अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि छोटे किसानों के धान को प्राथमिकता के आधार पर पहली खरीदी जायेगी। जिसमें 30 प्रतिशत लघु किसान, 55 प्रतिशत सीमांत किसान एवं 15 प्रतिशत बड़े किसान शामिल होंगे।

टोकन कटवाने के लिए धक्का मुक्की

शुक्रवार से किसानों के धान खरीदने के लिये टोकन काटने की प्रक्रिया शुरू होते ही टोकने काटने के लिए सुबह से जिले के सभी सोसायटियों में किसानों की भीड़ लगई गई। कई जगहों पर धक्का मुक्की की नौबत भी आई है। धमतरी अंचल के अछोटा, संबलपुर, सोरम, आमदी सहित आसपास के सोसायटियों में सुबह से किसान एकत्रित हो गये थे। जिनका नाम की पर्ची जमा कर टोकन काटने की प्रक्रिया जारी रही।

धान बेचने में हड़बड़ी न करें किसान : नोडल अधिकारी

इधर धान खरीदी के जिला नोडल अधिकारी प्रहलाद पुरी गोस्वामी ने कहा कि अभी मैनुअल टोकन काटा जा रहा है। कम्प्युटर साफ्टवेयर एक्टीवेट होने के बाद ही टोकना काटना शुरू होगा। अभी शासन से मौखिक आदेश प्राप्त हुआ है। शाम तक विधिवत आदेश पहुंचने की संभावना है। चूंकि अंचल में किसान धान की कटाई कर चुके हैं और धान बेचने को लेकर बेसब्री से इंतजार कर रहे हंै, इसलिए सुबह से सोसायटी पहुंच गये। उन्होंने किसानों से कहा कि धान बेचने में हड़बड़ी न करें। सुबह 5 बजे से सोसायटी पहुंचने की जरूरत नहीं है क्योंकि सभी सोसायटी निर्धारित समय पर ही खुलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here