जिले में हाथियों का आतंक, बाड़ी व खेतों में मचाई उत्पात

0
142

नगरी (प्रखर)। प्रदेश के धमतरी़ जिले में हाथियों का आतंक लगाातार बढ़ता ही जा रहा है। क्षेत्र के लोगों में हाथियों के घुसने से डर समाया हुआ है। नगरी ब्लॉक के जंगल से जुड़े गांवों में गुरुवार रात हाथियों ने खूब आफत मचाई। वन अमला के लगातार सक्रिय है। हाथियों ने कई लोगों के खेतों और बाड़ियों में खूब उत्पात मचाई है।

मुख्यालय नगरी के आसपास कई गांव ऐसे है जो जंगल से लगे है जहाँ जंगली जानवर आते रहते है। पहली बार रात को जंगली हाथियों का दल गरियाबंद की तरफ से क्षेत्र में घुस आया। खुदुरपानी में कुछ घंटे रुकने के बाद दल भैसामुंडा, अमाली होते हुए संबलपुर नगरी पहुंचा। जहां हाथियों ने उत्पात मचाते हुए एक बाड़ी का दरवाजा तोड़कर अंदर घुसकर वहां लगे केला और गन्ने में तबाही मचाई। वहीं नगरी के वार्ड नंबर 8 राइस मिल के पीछे अशोक पटेल के खेत में बने लारी की दीवार को गिरा दिया और डिपो अंदर घुस कर वापस जंगल की ओर चले गए।
विभागीय सूचना के मुताबिक हाथियों का झुंड संबलपुर व अमाली के जंगलों मे मौजूद है। नगरी में भी खेत में मिले पंजों के निशान के अनुसार हाथियों की कुल संख्या 27 से 28 है और उसमें 11 बच्चे शामिल है।

विभाग की अपील
जानकारी के मुताबिक 5 जनवरी को हाथियों के झुंड क्षेत्र में घुसने की सूचना पर वन विभाग द्वारा लगभग सभी ग्रामाें को अलर्ट कर दिया गया है। लोगों से महुआ का उपयोग नहीं करने की बार-बार अपील की जा रही है। प्रशिक्षु आईएफएस आलोक बाजपाई ने कहा है महुआ के सुगन्ध से हाथी घरों में पहुंच सकता है और नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए जो भी महुआ शराब का सेवन करते है अभी घर पर न बनाये। और रात में अपने घर के सामने अलाव जलाकर उसमें मिर्च डाले ताकि इसकी सुगंध से हाथी दूर चला जाए।
वनमण्डलाधिकारी सातोविशा सामाजदार के निर्देशन पर विभाग के प्रहरी पहरे पर लगे है रात जागरण कर पल-पल की खबर रखे हुए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here