‘पूत के पाव पालने में ही दिख जाता है’ और भूपेश सरकार कंगाली की सरकार है : बृजमोहन अग्रवाल

0
152

रायपुर (प्रखर) । पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने आज अपने निवास में प्रेस वार्ता का आयोजन किया, जहां उऩ्होंने कई मुद्दों को लेकर राज्य सरकार को घेरा । प्रदेश के मंत्रीमंडल सहित कांग्रेस के जिलाध्यक्ष महात्मा गांधी जी के विचारों को करीब से जानने के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण के लिए वर्धा प्रवास पर हैं। वहीं आज अंतिम दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की भी इसमें शामिल हुए हैं । जिसे लेकर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि गांधीजी को कांग्रेस गाते है किन्तु अपनाते नहीं है और आजादी के बाद से कांग्रेस ने सिर्फ उऩके नाम से खाया है, लेकिन उऩके सपनों को साकार करने का कभी भी प्रयास नहीं किया । इसलिए आज मोदी जी को लोकल फॉर वोकल का नारा देना पड़ रहा है। यदि शुरआत से ये चीजे होती तो ग्रामीण भारत की तस्वीर कुछ अलग होती । ग्रामीण अर्थव्यवस्था व्यवस्थित और मजबूत होता लोग सम्पन्न होते। लोगों शहरों की ओर रुख नहीं करते । इस कारण कांग्रेस की विदेश मोह है।

गांधीजी का सपना था कि सभी के पास अपना मकान हो लेकिन प्रदेश में 5 लाख 50 हजार मकानों का पैसा वापस चला गया । केंद्र सरकार की 90 फीसदी योजनाएं ऐसी है जिसमें सिर्फ केंद्र से पैसा आया है लेकिन राज्य सरकार का पैसा नहीं आया है। प्रदेश में पीएम किसान सम्मान निधी से 36 लाख किसानों को मिल सकता है, परंतु प्रदेश सरकार ने 16 लाख किसानों का ही डाटा भेजा है, जिसके कारण बाकी किसान इस योजना से वंचित है। छत्तीसगढ़ के लोगों का किसी योजना से हित होता है और कम्प्यूर के समय में बहाने बाजी करना मुझे लगता है ये तो सबसे बड़ा अऩ्याय है ।

सरकार के गलत फैसलों से किसान परेशान 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज प्रदेश सरकार की योजनाएं जो गांधी जी के विचारो से कनेक्टेड है उसे लेकर प्रजेंटेशन देंगे उस पर बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि यदि सरकार की योजनाएं धरातल पर होती तो प्रदेश के किसानो को दर –दर ठोकरे खाना, बारदाने के लिए भटकना, एक महीना देरी से धान खरीदी शुरू होने से किसानो को आत्महत्या करना नहीं पड़ता । लेकिन प्रदेश में किसान राज्य सरकार फैसलों के कारण ऐसा करने के लिए मजबूर हो रहे हैं ।

कंगाली की सरकार

आने वाले बजट सत्र के लिए मंत्री मंडल के बैठक को एक प्रक्रिया बताए । वहीं उऩ्होंने प्रदेश के लोगों से कांग्रेस के द्वारा चुनाव के पहले किए वादे पूरा करने की बात कही, जिसमें युवा बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देने सहित किसानों को धान खरीदी के 2500 रुपए एक मुश्त देने के लिए कहा और इसे लेकर बेवजह केंद्र सरकार पर इल्जाम लगाना छोड़ने के लिए कहा। पिछले दो सालों से प्रदेश में विकास के कार्य रुका हुआ है क्योंकि भूपेश सरकार के पास पैस नहीं है और सरकारी कर्मचारियों के वेतन भुगतान करने के लिए लोन ले रही है। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि कहा कि ‘पूत के पाव पालने में ही दिख जाता है’ और इस सरकार के पैदा होते ही देखने को मिल गए थे कि ये सरकार कंगाली की सरकार है।

बृजमोहन अग्रवाल ने सीएम भूपेश के पूरे देशवासियों को केंद्र सरकार के द्वारा वैक्सीन लगवाने की बात पर कहा कि राज्य के लोगों की सुरक्षा की जिम्मेंदारी राज्य सरकार की है। हर मामले में केंद्र सरकार पर टालना गलत है। कॉस्टिटूस्न के मुताबिक स्वास्थ्य की जिम्मेंदारी राज्य सरकार की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here