कवर्धा में गरिमापूर्ण तरीके से मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस, नहीं होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

0
118

कवर्धा। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2021 के मुख्य ध्वाजारोहण समारोह आयोजन कवर्धा के पीजी कॉलेज आचार्य पंथ गृंधमुनी नाम साहेब शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय में किया जाएगा। कोविड 19 कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम और उनके प्रभावित नियंत्रण को विशेष ध्यान में रखते हुए इस वर्ष मुख्य अतिथि द्वारा ध्वजारोहण होगा और इसके अलावा परेड की सलामी और कोरोना वारिर्यस को सम्मानित किए जाएंगे। इसके बाद जनता के नाम मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन होगा। परेड मैदान में किसी भी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम और विकास कार्यों पर आधार झांकियां नहीं निकाली जाएगी। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने आज यहां समय सीमा की बैठक में गणतंत्र दिवस के आयोजन के संबंध में राज्य शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

कलेक्टर ने बताया कि गणतंत्र दिवस 26 जनवरी की रात्रि में जिले के सभी शासकीय, सार्वजनिक भवनों, राष्ट्रीय महत्व के स्मारकों पर रोशनी की जाएगी। साथ ही सभी शासकीय और सार्वजनिक भवनों पर राष्ट्र ध्वज फहराया जाएगा। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2021 का आयोजन पूरे जिले में गरिमापूर्ण तरीके से किया जाएगा। राज्य शासन के निर्णय अनुसार इस वर्ष किसी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नही किया जाएगा, साथ ही किसी भी प्रकार की झांकियां नहीं निकाली जाएगी। समारोह में विशेष रूप से कोरोना वारियर्स डॉक्टरों, पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों और स्वच्छताकर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। आयोजन के दौरान कोविड-19 से बचाव के लिए सभी निर्देशों का पालन और उपाए किए जाएंगे। गणतंत्र दिवस समारोह के आयोजन में स्कूली छात्र-छात्राओं को नहीं बुलाया जाएगा।

जिला स्तर पर आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा। ध्वजारोहण के बाद पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों की टुकड़ियों द्वारा (गार्ड ऑफ ऑनर) सलामी दी जाएगी। इसके बाद जनता के नाम मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन होगा। कार्यक्रम में कोविड-19 से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए कोरोना वारियर्स चिकित्सकों, पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों और स्वच्छता कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा। जनपद पंचायत कार्यालयों में जनपद अध्यक्ष एवं नगरीय निकायों में अध्यक्षों द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा। इसी तरह पंचायत मुख्यालयों में सरपंच एवं बड़े गांवों में गांव के मुखिया द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here