सहायक प्राध्यापक परीक्षा-2019 में पदों की वृद्धि एवं चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता की मांग

0
147

रायपुर (प्रखऱ)। सहायक प्राध्यापक परीक्षा 2019 पद में वृद्धि एवं चयन प्रक्रिया में त्रुटि को लेकर अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुद्दे को उठाया। छात्रों का कहना है कि हमने इस मामले में 13 जनवरी को राज्यपाल से मुलाकात की थी। जिस संबंध में हमें आश्वासन दिया गया था कि मामले में उचित आश्वसान दिया गया था। किंतु वर्तमान में अभी तक पदों में वृद्धि नहीं की गयी।उन्होंने कहा कि इन पदों के चयन में कम अंक वालों को भी इस साक्षात्कार में शामिल किया गया जबकि अधिक अंक वालों को बाहर रखा गया है जो कि अन्यायपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि मूल निवासी महिलाओँ के लिए आरक्षित पद का लाभ यहां की मूल निवासी महिलाओ को नहीं मिल पा रहा है। छात्रों ने मांग की है कि आयोग द्वारा लिखित परीक्षा परिणाम से पूर्व पात्र अभ्यर्थियों की सूची बनायी जाए जिससे अभ्यर्थी केवल योग्य अभ्यर्थियों को ही अवसर मिले।

इसके अलावा लिखित परीक्षा पश्चात हल किए गए उत्तर की ओएमआर की छाया प्रति भी उपलब्ध करायी जाए जिससे आयोग की पारदर्शिता साफ हो। गौरतलब है कि माननीय वर्तमान में छग में सहायक प्राध्यापक हेतु योग्य उम्मीदवारों की कमी नहीं है किंतु पदों में कमी होने के कारण अभ्यर्थियों के योग्यतानुसार पद नहीं मिल पा रहा है। वर्तमान में अभ्यर्थियों का एक बड़ा वर्ग ऐसा है जो उम्रदराज होने की स्थिति में हैं, जो कि एक अंत्यंत दयनीय स्थिती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here