जन्मदिन विशेष उर्मिला मातोंडकर – एक ऐसी ऐसी अदाकारा जिन्होने बाल कलाकार से लेकर फिल्मों में मुख्य अभिनेत्री तक का लंबा सफर तय किया

0
81

उर्मिला मातोंडकर भारतीय फिल्मो की जानी मानी अभिनेत्री हैं। उनकी गिनती 90 के दशक की सबसे खूबसूरत अभिनेत्रियों में की जाती हैं। रंगीला फिल्म में उनके लूक को देखकर हर युवा धड़कन उर्मिला को चाहने लगा था। बेहतरीन अदायगी के साथ उनकी प्यारी सी मुस्कान दर्शकों का दिली जीत लिया करती थी। उन्होंने अपने अभिनय का जलवा हिंदी फिल्मो से लेकर मलयालम, मराठी, तमिल और तेलुगु फिल्मो में भी बिखेरा। उर्मिला ने बचपन से ही फिल्मों में अभिनय करना शुरू कर दिया था। उन्होंने अभिनय के अलावा कुछ समय के लिए राजनीती में भी खुद को आजमाया लेकिन उन्हें वहां सफलता नही मिली। वर्तमान समय में वो फिल्मों मे काफी कम दिखाई देती है औऱ अपने परिवार के साथ पारिवारिक जीवन व्यतीत कर रही हैं। उर्मिला मातोंडकर ने  जैसी बड़ी बड़ी फिल्मो में अपने अभिनय से दर्शको का दिल जीती हैं।

मुंबई में हुआ जन्म

उर्मिला मातोंडकर का जन्म 04 फरवरी 1974 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। वे एक मराठी परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उर्मिला के पिता का नाम ‘शिविंदर सिंह’ है जो पेशे से एक व्याख्याता हैं। उनकी माँ का नाम ‘रूकशाना सुल्तान’ है और वह घर परिवार को सम्हालने का काम करती हैं। उर्मिला की एक बड़ी बहन, एक छोटी बहन और एक बड़े भाई हैं। उनकी बड़ी बहन का नाम ‘ममता मातोंडकर’ है और वह एक अभिनेत्री हैं। उनकी छोटी बहन का नाम ‘पूजा मातोंकार’ है। उर्मिला के भाई का नाम ‘केदार मातोंडकर’ है।

शिक्षा

उर्मिला ने अपने स्कूल की पढाई मुंबई से ही पूरी की थी। इसके बाद उन्होंने पुणे यूनिवर्सिटी से अपने ग्रेजुएशन की पढाई पूरी की थी। उर्मिला ने फिलॉसोफी के विषय में बी. ए की डिग्री प्राप्त की है। उर्मिला को बचपन से ही पढाई का बहुत शौक रहा है। वह हमेशा से पढ़ने वाले बच्चो में गिनी जाती थी और उन्हें अभी भी पढ़ते रहना अच्छा लगता है।

बालकलाकार के रुप में की 1980 में अभिनय की शुरुआत

उर्मिला ने अपने अभिनय की शुरुआत बचपन में ही की थी। उन्होंने सबसे पहले साल 1980 में फिल्म ‘जाकोल’ में अभिनय किया। यह एक मराठी फिल्म थी जिसके निर्देशक ‘श्रीराम लागू’ ने बनाया था। इसके बाद साल 1981 में उर्मिला ने अपना डेब्यू हिंदी फिल्मो में किया। उनकी पहली हिंदी फिल्म का नाम ‘कलयुग’ था जिसके निर्देशक ‘श्याम बेनेगल’ थे। इस फिल्म में उर्मिला ने ‘परिक्षित’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म को दर्शको ने भी बहुत पसंद किया था। साल 1983 में उर्मिला ने फिल्म ‘मासूम’ में अभिनय किया। इस फिल्म के निर्देशक ‘शेखर कपूर’ थे और फिल्म में उर्मिला ने ‘पिंकी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को नसीरुद्दीन शाह, शबाना आज़मी, जुगल हंसराज और उर्मिला मातोंडकर ने अभिनय किया था। यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस में सफल रही।  इसके बाद उर्मिला साल 1984 में भावना’,साल 1987 में ‘डिकैट’ औऱ साल 1989 ‘बड़े घर की बेटी’  नाम की फिल्म में अभिनय किया।

चमत्कार फिल्म से किया मुख्य अभिनेत्री के रुप में डेब्यू

उर्मिला मे साल 1991 में आई सनी देओल और डिम्पल कपाड़िया स्टारर फिल्म नरसिम्हा में सहायक अभिनेत्री के रुप में डेब्यू किया जिसे दर्शको ने खूब सराहा। मुख्य अभिनत्री के रुप मे उर्मिला ने शाहरुख खान स्टारर चमत्कार मे काम किया जिसे दर्शकों ने काफी ज्यादा पसंद किया। इस फिल्म के बाद से उनकी किस्मत पलटी और वे बॉलीवुड की मुख्य अभिनेत्री के रुप में उभरी। चमत्कार के बाद उर्मिला ने‘एंथम फिल्म से अपना तेलगू डेब्यू किया। फिल्म के निर्देशक राम गोपाल वर्मा थे। साल के अंत में उर्मिला ने‘द्रोही’नाम के फिल्म में काम किया। इसके बाद 1993 में फिल्म ‘श्रीमान आशिकी’ ,‘गायम औऱ ‘बेदर्दि’जैसी फिल्मों में काम किया।  साल 1994 और साल 1995 में उर्मिला ने दो बड़ी फिल्मो में अभिनय किया था। उर्मिला को साल 1994 में फिल्म ‘आ गले लग जा’ में देखा गया था। इस फिल्म के निर्देशक ‘हामिद अली’ थे और फिल्म में उर्मिला ने ‘रौशनी’ नाम के किरदार को दर्शाया था। इस फिल्म में मुख्य किरदारों को जुगल हंसराज, गुलशन ग्रोवर, उर्मिला मातोंडकर, परेश रावल और रीमा लागू ने अभिनय किया था।

रंगीला फिल्म ने दिलाई असली पहचान

उर्मिला ने लीड एक्ट्रेस के रुप में वैसे तो 1991 में चमत्कार फिल्म से काम करना शुरु कर दिया था। लेकिन वे अब तक टॉप की एक्ट्रेस में शुमार नही हो पाई थी। उनकी यह मुराद साल 1995 में आई आमिर खान औऱ जैकी श्रॉफ स्टारर फिल्म रंगीला ने पूरी की। फिल्म में उनके हॉट अंदाज को दर्शकों ने खूब पसंद किया। इस फिल्म के बाद उर्मिला निरंतर आगे बढ़ती चली गयी। उर्मिला ने सलमान,शाहरुख,अजय,अक्षय से लेकर संजय दत्त औऱ गोविंदा जैसे दिग्गज कलाकारों के साथ बतौर लीड एक्ट्रेस काम कर लिया हैं।

उर्मिला मातोंडकर को प्राप्त पुरस्कार और उपलब्धियां

साल 1993 में फिल्म ‘गायम’ के लिए ‘बेस्ट एक्टर इन ए सपोर्टिंग रोल- फीमेल’ का अवार्ड ।

साल 2001 में फिल्म ‘प्यार तूने क्या किया’ के लिए ‘मोस्ट सेंसेशनल अवार्ड’ ।

साल 2004 में फिल्म ‘भूत’ के लिए मिला ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड ।

साल 2006 में फिल्म ‘मैंने गाँधी को नहीं मारा’ के लिए मिला ‘बेस्ट एक्ट्रेस’ का अवार्ड ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here