राहुल रॉय जन्मदिन विशेष – बॉलीवुड के आशिकी ब्वॉय राहुल रॉय जिन्होंने एक साथ 47 फिल्में साइन कर इतिहास रच दिया था

0
82

राहुल रॉय हिंदी सिंनेमा का एक ऐसा अभिनेता जिन्होने अपनी पहली फिल्म से वो सफलता हासिल कर ली थी। जिसे पाने के लिए कई एक्टर्स सालों तक तरसते थे। राहुल की पहली फिल्म आशिकी आल टाइम ब्लॉकबस्टर रही। इस फिल्म के गाने एवरग्रीन साबित हुए। फिल्म के गाने की लोकप्रियता आज भी बरकरार हैं। टूटे आशिक की दिल की दवा और पहले-पहले प्यार पड़े प्रेमियों के जुबां आज भी राहुल ऱॉय की आशिकी के गाने सुनकर ही पूरे होते हैं। भले ही राहुल रॉय अब फिल्मों में नजर नही आते लेकिन उनके पहली फिल्म का किरदार आज भी 90 के दशक के लोगो के दिलो में जिंदा हैं। बॉक्स ऑफिस के हिसाब से राहुल फ्लॉप रहे लेकिन परफॉमेंस के हिसाब से वो आज भी लवरब्वॉय हैं।

राहुल की तस्वीर देख इंप्रेश हुए आशिकी फिल्म के डायरेक्टर

राहुल रॉय ने दिल्ली से अपना ग्रेजुएशन पूरा किया। उस दौरान उन्होंने मॉडलिंग शुरू कर दी थी। राहुल ने कभी फिल्मों में काम करने के बारे में नहीं सोचा था। राहुल एक बिजनेसमैन फैमिली से हैं। राहुल की मां आर्टिकल लिखा करती थीं। एक बार उनका आर्टिकल पढ़कर महेश भट्ट उनसे मिलने पहुंचे। घर पर राहुल की तस्वीर देखकर भट्ट साहब ने राहुल के बारे में पूछा। उस वक्त वो घर पर मौजूद नहीं थे। इसके बाद राहुल ने महेश भट्ट को कॉल किया।

राहुल रॉय को सिनेंमाहाल में देख दर्शक हो गए थे बेकाबू

राहुल ने मॉडलिंग करते हुए ही एक्टिंग भी सीखनी शुरू कर दी। राहुल जब फिल्म कर रहे थे तो उन्होंने सोचा भी नहीं था कि ये फिल्म इतनी बड़ी हिट होगी। फिल्म रिलीज होने के दिन मुकेश भट्ट मेट्रो सिनेमा में राहुल को पहला शो दिखाने ले गए। लोगों को जैसे ही राहुल के बारे में पता चला वे बेकाबू हो गए। न्हें रोक पाना मुश्किल था। लोगों से बचने के लिए राहुल मैनेजर के केबिन में छिप गए। किसी तरह उन्होंने फिल्म देखी। फिल्म खत्म होते ही जब लोगों को ये पता चला कि वो मैनेजर के केबिन में हैं तो वे हल्ला मचाने लगे। लोग मैनेजर के केबिन को तोड़ने की कोशिश करने लगे। बाद में किसी तरह बचकर राहुल वहां से निकले। रास्ते में मुकेश भट्ट ने राहुल से कहा, ‘तू तो स्टार बन गया’। इस तरह राहुल रॉय अपनी पहली फिल्म से ही रातों-रात स्टार बन गाए थे।

पहली फिल्म आशिकी 6 माह तक रही हाउसफुल

आशिकी फिल्म जब रिलीज हुई तो माना सिनेमा हाल में सिल्वर जुबली वाला दौर वापस आ गया था। फिल्म को हर तरह से सकरात्मक प्रतिक्रिया मिल रही थी। गानो से लेकर इमोशनल सीन और राहुल राय की नशीली आंखो ने सबका दिल जीत लिया था। आलम यह था कि उस दौर के सारे आशिक राहुल रॉय की तरह क्लीन सेव के साथ लंबे लंबे बाल रखना शुरु कर दिया था। राहुल को एक ही फिल्म से इतनी शोहरत औऱ पहचान मिली जितना किसी एक्टर को एक दशक में काम  करने से नही मिलती।

आशिकी जैसी सुपरहिट फिल्म देने के बावजूद 8 महीने रहे खाली  

आशिकी फिल्म पर्दे पर सुपरहित साबित हुई। राहुल को लोग घर-घर में जानने लगे और उन्हे लगा वो बड़े स्टार बन गए। लेकिन इसके बाद लगातार 8 महीनों तक राहुल के पास एक भी फिल्म का ऑफर नहीं आया। राहुल परेशान हो रहे थे और उनकी ये परेशानी उपर वाले ने देख ली।

एक साथ 47 फिल्मे की साइन

8 महीने खाली रहने के बावजूद राहुल राय को एक साथ 60 फिल्म ऑफऱ हुई। जिनमे से राहुल ने करीब 47 फिल्मों को साइन कर ली थी। उन्हें ये डर था कि कहीं दोबारा उन्हें खाली ना बैठना पड़े। इसलिए उन्होंने एक साथ 47 फिल्में साइन कर ली थी। राहुल की पहली फिल्म ‘आशिकी’ बड़ी हिट थी लेकिन उसके बाद आने वाली उनकी 25 फिल्में पर्दे पर बुरी तरह से फ्लॉप हुई। इसके बाद साल 1992 में राहुल रॉय को महेश भट्ट के निर्देशन में बनी फिल्म ‘जुनून’ में काम करने का मौका मिला। इस फिल्म में एक्टर ने अपने निगेटिव किरदार से दर्शकों को हैरान कर दिया। अपने फिल्मी करियर को डूबता देख राहुल ने भोजपुरी सिनेमा  की ओर भी रुख किया लेकिन वहां भी बात नहीं बनी। यहां तक कि उन्होंने बी और सी ग्रेड फिल्में भी साइन की थी। लेकिन राहुल रॉय का सितारा फिर नहीं चमका और धीरे-धीरे वो फिल्मों से दूर हो गए।

प्रमुख फिल्में

1990  आशिकी,1991  प्यार का साया,1992  जुनून ,1992  दिलवाले कभी ना हारे 1992  जानम,1992  सपने साजन के,1993  पहला नशा ,1993  गुमराह ,1993  भूकंप ,1993  गेम 1993  फिर तेरी कहानी याद आई    1994  हंसते खेलते ,1996  मझधार, 1996  मेघा ,1997  नसीब,1998  अचानक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here