धान खऱीदी मामले में सदन में घिरे खाद्यमंत्री अमरजीत भगत विपक्ष के शिवरतन शर्मा ने बोला हमला

0
415

रायपुर ( प्रखर)। विधानसभा में हंगामे का दौर जारी है। गुरुवार को खाद्य मंत्री धान खरीदी मामले में घिर गए। उनको भाजपा के तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। धान खरीदी समितियों और मिलर्स को शासन के भुगतान किए जाने के मामले में बीजेपी विधायक शिवरतन शर्मा ने सवाल पूछा। शिवरतन शर्मा ने कहा क्या केंद्र सरकार के निर्देश पर यह कमेटी बनाई गई है? इसके जवाब में खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने अपने जवाब में कहा कि- शासन स्तर पर मंत्रिमंडल की एक सब कमेटी बनाई गई है।

फिर शिवरतन शर्मा ने पूछा- इसी विधानसभा में मंत्री ने स्वीकार किया है कि 2019-20 में 44 हज़ार टन लॉस हुआ है। कितने मिलर्स को प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया गया है? इस पर जवाब देते हुए मंत्री भगत ने कहा कि मिलर्स को 630 करोड़ का भुगतान होना है। 430 करोड़ का भुगतान हो चुका है। जैसे-जैसे बिल आ रहे हैं उनका मिलान कर भुगतान किया जा रहा है। बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने पूछा कि- एक क्विंटल चावल के पीछे प्रासंगिक व्यय कितना होता है? मिलर्स को भुगतान के पीछे देरी होने की वजह यही है? अमरजीत भगत ने कहा- 9 रुपए प्रासंगिक व्यय है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा- मंत्री गलत जवाब दे रहे हैं। मैंने पूछा है कि प्रति क्विंटल प्रासंगिक व्यय कितना आता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here