मीनल चौबे बनीं रायपुर नगर निगम की पहली महिला नेता प्रतिपक्ष

0
300
रायपुर नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष का चुनाव
रायपुर नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष का चुनाव

रायपुर (प्रखर) । मीनल चौबे रायपुर नगर निगम की पहली महिला नेता प्रतिपक्ष बनाई गई । मीनल पिछले तीन बार से की पार्षद हैं। नेता प्रतिपक्ष के लिए पिछले डेढ़ साल से कवायद चल रही थी, लेकिन नाम तय करने में बीजेपी ने काफी लंबा समय लिया । आखिरकर बीजेपी पार्षदों ने सर्वसम्मति से नेता प्रतिपक्ष पद के लिए वरिष्ठ महिला बीजेपी पार्षद मीनल चौबे के नाम पर मुहर लगा दी है। फिलहाल भाजपा के खेमे में 29 पार्षद हैं। इनमें से 14 महिलाएं हैं।

नगर निगम में पहली बार किसी महिला पार्षद नेता प्रतिपक्ष बनी हैं । मीनल चौबे विपक्ष में आने के बाद पहले ही दिन से नेता प्रतिपक्ष बनने की दावेदारी कर रही थीं । नेता प्रतिपक्ष बनने की दौड़ दो और नाम पूर्व नेता प्रतिपक्ष सूर्यकांत राठौर और मृत्युंजय दुबे शामिल थे । दोनों ही पार्षद इस पद के लिए प्रबल दावेदार थे । राठौर नगर निगम की पिछली निर्वाचित परिषद में नेता प्रतिपक्ष का दायित्व भी संभाल चुके हैं। मीनल चौबे के पक्ष में करीब 85 प्रतिशत भाजपा पार्षदों ने मीनल चौबे के पक्ष में अपनी राय दी थी।

नेता प्रतिपक्ष नहीं होने पर उलाहना

लंबे समय से रायपुर नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष को लेकर विवाद के हालात बन रहे थे, खुद नगर निगम के सभापति प्रमोद दुबे ने बीजेपी प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी को भी नेता प्रतिपक्ष नियुक्त करने के लिए पत्र भी लिखा था । इसके बाद इस पत्र को लेकर दोनों पार्टियों के बीच सियासी खींचतान चल रही थी । लेकिन अंतत: भाजपा ने अपना नेता प्रतिपक्ष तय करने की मंथन शुरू की । वहीं निगम में बजट को लेकर 27 मार्च को सामान्य सभा होने वाली थी, जिसके कारण भी नेता प्रतिपक्ष चुनना बेहद जरूरी था, क्योंकि पिछले सभा के दौरान नेता प्रतिपक्ष नहीं होने की वजह से भाजपा पार्षदों को कई उलाहनाओं का सामना करना पड़ा था । हालांकि बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते बजट सामान्य सभा को रद्द कर दिया गया है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here